इस हफ्ते 100 से ज्यादा स्मॉलकैप शेयरों ने दिया डबल डिजिट रिटर्न

  
इस हफ्ते 100 से ज्यादा स्मॉलकैप शेयरों ने दिया डबल
डिजिट रिटर्न, जानिए आगे कैसी रह सकती है बाजार की
चाल,



ब्रॉडर इंडेक्स ने भी सप्ताह के दौरान नए प्रतिमान बनाए ।

बीएसई मिडकैप और बीएसई - स्मॉलकैप में 2 प्रतिशत से

अधिक की बढ़त हुई, जबकि बीएसई - लार्जकैप सपाट नोट

पर बंद हुआ। सेक्टोरल इंडेक्सों पर नजर डालें तो बीएसई

रियल्टी इंडेक्स में 8 प्रतिशत और टेलीकॉम, हेल्थकेयर,

पावर और ऑयल एंड गैस में 3 प्रतिशत की बढ़त हुई,

जबकि ऑटो, आईटी और धातु में 1-2 प्रतिशत की गिरावट

देखने को मिली

Stock markets : बाजार ने नए साल की शुरुआत सकारात्मक रुख के साथ की लेकिन सप्ताह का अंत मामूली गिरावट के साथ हुआ। यूएस फेड के दिसंबर बैठक के मिनट से ब्याज दरों में कटौती पर साफ संकेत न मिलने, लाल सागर में तनाव और तीसरी तिमाही के नतीजों के आने के बाजार में आई वोलैटिलिटी के कारण बीते हफ्ते बाजार पर दबाव रहा। 5 जनवरी के खत्म हुए इस हफ्ते में बीएसई सेंसेक्स 0.29 फीसदी या 214.11 अंक गिरकर 72,026.15 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 50 इंडेक्स 20.6 अंक गिरकर 21,710.80 पर बंद हुआ। 1 जनवरी को,

सेंसेक्स और निफ्टी ने 72,561.91 और 21,834.35 के नए रिकॉर्ड ऊंचाई को छुआ।


इसके अलावा,ब्रॉडर इंडेक्सों ने भी सप्ताह के दौरान नए प्रतिमान बनाए । बीएसई -मिडकैप और बीएसई - स्मॉलकैप में 2 प्रतिशत से अधिक की बढ़त हुई, जबकि बीएसई-लार्जकैप सपाट नोट पर बंद हुआ। सेक्टोरल इंडेक्सों पर नजर डालें तो बीएसई रियल्टी इंडेक्स में 8 प्रतिशत और टेलीकॉम, हेल्थकेयर, पावर और ऑयल एंड गैस में 3 प्रतिशत की बढ़त हुई, जबकि ऑटो, आईटी और धातु में 1-2 प्रतिशत की गिरावट देखने को मिली।


विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) इस सप्ताह नेट बॉयर बने रहे, क्योंकि उन्होंने 3,290.23 करोड़ रुपये की इक्विटी खरीदी, जबकि संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) ने 7,296.50 करोड़ रुपये की इक्विटी बेची।










Post a Comment

Previous Post Next Post